VIDEO में देखिए, कैसे सीरियाई विद्रोहियों ने रूसी हेलिकॉप्टर के परखच्चे उड़ा दिए

इस्तान्बुल।तुर्की-सीरिया सीमा पर  एक रूसी लड़ाकू विमान को मारकर गिरा दिया गया। रूसी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने इस बात की सीएनएन से पुष्टि की है। रूस ने बताया कि प्लेन तुर्की ने मार गिराया है जो कि सीरियन एयरस्पेस में था। यह रूस का मिलिटरी प्लेन था। दो पायलट खुद की जान बचान में कामयाब रहे लेकिन एक को सीरियन विद्रोहियों ने अपने कब्जे में ले लिया है। प्लेन क्यों गिराया गया इसकी अभी तक कोई पुष्ट जानकारी नहीं आई है। हालांकि तुर्की की सेमी-ऑफिशल अनादोलु एजेंसी ने बताया कि गुमनाम राष्ट्रीयता वाले लड़ाकू विमान को सीरियन सीमा में गिराया गया है।

दूसरी तरफ रूस ने इस बात से इनकार किया कि उसके फाइटर प्लेन ने तुर्की की हवाई सीमा के जरिए सीरियन बॉर्डर का उल्लंघन किया था। रूस के रक्षा मंत्रालय ने कहा कि हमलोग पूरी स्थिति को देख रहे हैं। रूस ने कहा कि विमान को तोप के जरिए उड़ाया गया है। दूसरी तरफ तुर्की दावा कर रहा है कि उसकी चेतावनी के बाद भी सीमा का उल्लंघन किया गया।

 मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सीरिया के बइरबुकाक इलाके में तुर्की की सीमा के पास एक अनाम राष्ट्रीयता वाला लड़ाकू विमान गिरा है। विमान गिरने के वाकये को कैमरे में भी कैद किया गया है। पायलट ने अपनी जान पैराशूट के जरिए बचाई। पूरा इलाका धुआं से भर गया था। तुर्की के अधिकारियों का कहना है कि विमान ने चेतावनियों को नजरअंदाज किया था। प्रधानमंत्री अहमत दावूतोगलू ने विदेश मंत्रालय से नेटो, संयुक्त राष्ट्र और संबंधित देशों से परामर्श करने के लिए कहा है।

तुर्की की सरकार सीरिया में बशर अल-असद की सरकार के खिलाफ है। वहां की सरकार से तुर्की आमने-समाने है। तुर्की सीरिया पर प्लेन गिराने का भी आरोप लगा चुका है। उसने कई बार सीरिया पर अपने एयरस्पेस का उल्लंघन करने का आरोप लगाया है। दूसरी तरफ रूस असद का खुलकर समर्थन कर रहा है। मार्च, 2014 में तुर्की ने सीरियन फाइटर जेट को मार गिराया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *