विश्लेषण : जल्द ही कांग्रेस का दामन थाम सकते हैं नसीमुद्दीन

पीलीभीत। गंभीर आरोपों में बाहर किए गए बसपा नेता नसीमु्द्दीन सिद्दिकी जल्द ही कांग्रेस का दामन थाम सकते हैं। सूत्रों की अगर मानें तो उनकी कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी से कई दौर की वार्ता हो चुकी है। सिद्दिकी यूपी में कांग्रेस की कमान किसी बडे दलित और मुस्लिम नेताओं के हाथों में देना चाहते हैं।
बसपा नेता नसीमुद्दीन सिद्दिकी की गिनती बसपा के बडे नेताओं में होती थी। उन्हें बसपा सुप्रीमोे मायावती का खास सिपहसालार समझा जाता था, लेकिन विधानसभा चुनाव में मिली करारी हार के बाद जब मायावती ने संगठन की समीक्षा की तो उत्तराखंड के कार्यकर्ताओं ने सबसे ज्यादा आरोप श्री सिद्दीकी पर ही लगाए। गंभीर आरोपों के बाद मायावती के निर्देश पर पार्टी महासचिव सतीश चन्द्र मिश्रा ने प्रेसवार्ता बुलाकर उन्हें बाहर का रास्ता दिखा दिया था। जिसके बाद श्री सिद्दीकी ने कई आडियो टेप वायरल कर मायावती पर आरोप लगाए थे। इसके बाद मायावती ने पार्टी में मुस्लिम नेता की कमी को पूरा करने के लिए नसीमुद्दीन के धुर विरोधी पूर्व मंत्री अनीस अहमद खां फूलबाबू को बुलाकर उन्हें पार्टी में षामिल कर लिया था। फूलबाबू के बसपा में शामिल होते ही नसीमुद्दीन के खास रहे बरेली मंडल के ब्रहमस्वरूप सागर, पूर्व विधायक अरशद खां, इंजीनियर अनीस अहमद बसपा के पीलीभीत जिलाध्यक्ष हरीराम गौतम आदि ने बसपा से किनारा कर लिया था। हालांकि इसके बाद संगठन के आला नेताओं ने इन नेताओं को पहले ही निस्कासित करने का फरमान जारी किया था। बहरहाल इस ताजे घटनाक्रम के बाद अब बसपा के इन पूर्व नेताओं को नई राजनैतिक जमीन की तलाश है। श्री सिददीकी से जुडे भरोसेमंद सूत्रों की अगर मानें तो उनकी कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी से वार्ता हो चुकी है और वे अपने सभी समर्थकों के साथ कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं। दरअसल कांग्रेस यूपी में अपना जनाधार खो चुकी है। नसीमुददीन चाहते हैं कि प्रदेश में बसपा की कमान किसी बडे दलित नेता को सौंपी जाए, जिसके बाद वे खुद लगकर दलित और मुस्लिम वोट बैंक को कांग्रेस से जोड सकें।
इस संबध में जब पीलीभीत लाइव ने पूरनपुर के पूर्व विधायक अरशद खां से बात की तब उनका कहना था कि अभी कोई फैसला नहीं लिया गया है। पूरी तरह चिंतन मनन कर ही कोई फैसला लिया जाएगा।

 

 

 

तारिक कुरैशी, संपादक पीलीभीत लाइव

तारिक कुरैशी, संपादक पीलीभीत लाइव

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *