तीसरी आंख की जद में रहेंगे कांवडिय़ों के जत्थे

पीलीभीत। इस साल रेकॉर्ड कांवड़ियों के आने का अनुमान है। इसके मद्देनजर पुलिस-प्रशासन ने सुरक्षा की तैयारियां तेज कर दी है। सुरक्षा का जो ब्लू प्रिंट तैयार किया गया है, इसमें इस बात का ध्यान रखा गया है कि संदिग्धों पर पूरी तरह से नजर रखी जा सके। इसके लिए श्रद्धालुओं के लिए लगने वाले कांवड़ शिविर मेन रोड से करीब 50 मीटर दूर लगेंगे। वहीं, बड़े शिविरों में सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे। इनकी मॉनिटरिंग के लिए एक कंट्रोलरूम भी बनेगा। इस बार कांवड़ यात्रा को लेकर लगातार इनपुट मिल रहे हैं कि कुछ शरारती तत्व शांति भंग कर सकते हैं। इसके बाद से ही प्रशासन अलर्ट है। कावंड को लेकर मीटिंग आज: कांवड़ यात्रा के दौरान सुरक्षा व्यवस्था के लिए समन्वय समिति की बैठक मंगलवार को स्थित पुलिसलाइन में होगी। इस मीटिंग में यूपी, दिल्ली और हरियाणा समेत 4 राज्यों के प्रशासन और पुलिस के अधिकारी मौजूद रहेंगे। पुलिसलाइन के इंस्पेक्टर रामवीर सिंह ने बताया कि बैठक के दौरान कांवड़ यात्रा की तैयारियों की भी समीक्षा होगी। इसके साथ ही यात्रा के दौरान सुरक्षा व्यवस्था पर भी विचार किया जाएगा। बता दें कि कावंड यात्रा 20 जुलाई से शुरू होगी। मीटिंग में यूपी से प्रमुख सचिव गृह देवाशीष पांडा, डीजीपी जावेद अहमद, एडीजी एलओ, एडीजी ट्रैफिक समेत कई रेंज के आईजी और जोन के डीआईजी समेत कई जिलों के पुलिस कप्तान भी हिस्सा लेंगे।

 

 इस बार कांवड़ यात्रा 20 जुलाई के बाद शुरू हो जाएगा। हालांकि, इसमें तेजी 24 जुलाई के बाद ही आएगी। इस कारण प्रशासन ने मेरठ रोड और उसके आसपास 21 स्थानों पर सीसीटीवी लगाने का फैसला किया है। इन कैमरों से नजर रखने के लिए मेरठ रोड तिराहे के पास कंट्रोलरूम बनाने का फैसला लिया गया है।कावंडिय़ों की सर्वाधिक भीड़ गौरी शंकर मंदिर में रहेगी। इसको देखते हुए पुलिस ने मंदिर के महंत से संपर्ककर सीसीटीवी लगाने के निर्देश दिए है। इसके अलाव जिन स्थानों पर कांवड़िए ठहरेंगे। वहंा पर भी व्यवस्थाएं देखी जा रही है। सीओ सिटी निर्मल कुमार विष्ट ने बताया कि पुलिस विभाग की ओर से शहर में लगाए गए सीसीटीवी काम कर रहे है। इसकी चेकिंग कराई जा चुकी है। गौरीशंकर मंदिर में भी सीसीटीवी लगाने के लिए महंत से बातचीत की जा रही है। कोतवाल हरगोविंद सिंह और सुनगढ़ी इंस्पेक्टर अतुल प्रधान को क्षेत्र के कांवडिय़ों को लेकर सुरक्षा तैयारियों के लिए लगाया गया है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *